लोड हो रहा है. . .

युवाउमंग में पढ़िए

मंगलवार, 20 नवंबर 2007

पुस्तक परिचय Pustak Parichay

बृहत तुकान्त राशि
राजधानी के जानेमाने गज़लकार और पत्रकार देवेन्द्र माँझी के अनेक सालों के सतत परिश्रम, धैर्य, सूझबूझ और लगन का सुखद परिणाम ' बृहत तुकान्त राशि' के रूप में सामने आया है। इस अनूठी पुस्तक को दिल्ली के मंजुली प्रकाशन ने प्रकाशित किया है। यह कृति साहित्य जगत और साहित्यप्रेमियों के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होगी। यह एक महत्वपूर्ण बहुउपयोगी शब्द कोश भी है।
आज के व्यावसायिक समय में जहाँ विज्ञापन का बोलबाला है, यह बृहत तुकान्त राशि विज्ञापन के क्षेत्र में तुकान्त शब्दों की आवश्यकता को पूरा करने में भी कसौटी पर खरी उतरेगी। हिन्दी-अंग्रेजी सहित डेढ़ दर्ज़न से भी अधिक भाषाओं के प्रचलित-अप्रचलित शब्दों को इसमें शामिल किया गया है।
पिछले दिनों नयी दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित विश्व पुस्तक मेले में बृहत तुकान्त राशि को लोगों की सराहना के साथ अच्छा प्रतिसाद मिला। अभी इसका प्रथम खण्ड प्रकाशित हुआ है। इस पुस्तक के कुल 6 खण्ड प्रकाशित होंगे।
प्रकाशक- मंजली प्रकाशन, पी-04, पिलंजी , सरोजिनी नगर, नयी दिल्ली-110023 (भारत) +919810667195, 9213710070
< देवेन्द्र माँझी * ता च चन्दर
-----------------------------------------------------------------------------------

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

युवाउमंग